22 नवंबर 2021 का करेंट अफेयर्स/Current Affairs 22.11.21

Table of Contents

22 नवंबर 2021 के शीर्ष करेंट अफेयर्स। सभी आवश्यक जानकारी के साथ नवीनतम करंट अफेयर्स तुरंत प्राप्त करें और आज के सभी करंट अफेयर्स (current affairs) को जानने वाले पहले व्यक्ति बनें 22 नवंबर 2021 के शीर्ष समाचार, प्रमुख मुद्दे, वर्तमान राष्ट्रीय समाचारों के साथ-साथ अंतर्राष्ट्रीय में महत्वपूर्ण घटनाओं का स्पष्ट स्पष्टीकरण के साथ सभी प्रासंगिक जानकारी प्राप्त करें। सभी स्तर के प्रतियोगी परीक्षाओं और साक्षात्कारों के लिए अपने आप को तैयार करें, यहां दिए गए 22 नवंबर 2021 के नवीनतम करेंट अफेयर्स (latest current affairs) का लाभ उठाएं और खुद को मजबूत करे.

https://www.saarkarinaukri.com/

करंट अफेयर्स क्या है ?

अगर हम किताबों की परिभाषा के दृष्टिकोण से जाते हैं तो करंट अफेयर्स प्रसारण पत्रकारिता परिवार की ही एक शैली का रूप है। यदि वह करंट अफेयर्स की परिभाषा के बारे में बात कर रहे हैं, तो हम समाज में राजनीतिक, आर्थिक, राष्ट्रीय, अंतर्राष्ट्रीय घटनाओं और समस्याओं की बात कर रहे हैं, जिनकी अक्सर समाचार पत्रों, टेलीविजन और रेडियो पर चर्चा की जाती है। करेंट अफेयर्स का महत्व जानने के लिए यहां क्लिक करें

22 नवंबर 2021 के समसामयिक विषय

यूपी का पहला वायु प्रदूषण नियंत्रण टावर नोएडा में शुरू

उत्तर प्रदेश राज्य ने अपना पहला वायु प्रदूषण नियंत्रण टावर (the first air pollution control tower) अपने नए विकसित शहर नोएडा (NOIDA) में स्थापित किया जिसका उद्घाटन केंद्रीय भारी उद्योग मंत्री महेंद्र नाथ पांडे ने 17 नवंबर 2021 को किया। इस प्रोटोटाइप (prototype) वायु प्रदूषण नियंत्रण टॉवर (APCT) को सरकार द्वारा संचालित भारत हैवी इलेक्ट्रिकल्स लिमिटेड (भेल) (Bharat Heavy Electricals Ltd (Bhel)) द्वारा विकसित किया गया है। इस
भारत हैवी इलेक्ट्रिकल्स लिमिटेड द्वारा निर्मित वायु प्रदूषण नियंत्रण टॉवर (APCT) को नोएडा (NOIDA) शहर के मशहूर व महत्वपूर्ण DND फ्लाईवे और नोएडा एक्सप्रेसवे के स्लिप रोड के बीच में स्थापित किया गया है। वायु प्रदूषण नियंत्रण टॉवर (APCT) का उद्देश्य शहर में बढ़ते वायु प्रदूषण की समस्या को कम करने में मदद करेगा है।
टावर अपने आसपास की प्रदूषित हवा को साफ करेगा और शुद्ध हवा को छोड़ेगा। इनटेक और एग्जॉस्ट पंखे से लैस टावर शुरू में बिजली की मदद से चलेगा। हालांकि प्राधिकरण बाद में सौर ऊर्जा की मदद से टावर को चलाने की योजना बना रहा है। नौ मीटर व्यास वाला और 20 मीटर ऊंचा यह वायु प्रदूषण नियंत्रण टावर अपने चारों ओर एक वर्ग किलोमीटर के क्षेत्र में हवा को फिल्टर करने की छमता रखता है।

विश्व बैंक के अनुसार, भारत का विश्व सबसे बड़ा प्राप्तकर्ता का प्रेषण बन गया है

एक अंतर्राष्ट्रीय वित्तीय संस्थान, जिसका नाम पुनर्निर्माण और विकास अंतर्राष्ट्रीय बैंक विकासशील देशों को उनकी आर्थिक उन्नति में सहायता के लिए वित्त पोषण, सलाह और अनुसंधान प्रदान करने के लिए स्थापित किया गया था, कुछ समय बाद इसे विश्व बैंक कहा गया। विश्व बैंक का मुख्यालय वाशिंगटन डीसी, यूएसए में स्थित है। वर्तमान में विश्व बैंक के अध्यक्ष डेविड रॉबर्ट मलपास हैं। श्री डेविड आर मलपास विश्व बैंक के 13वें अध्यक्ष हैं। अतिरिक्त जानकारी के लिए विश्व बैंक समूह के पहले अध्यक्ष श्री यूजीन मेयर थे, वे यूएसए से थे। उन्होंने 1946 में पद ग्रहण किया
विश्व बैंक द्वारा जारी नवीनतम रिपोर्ट जिसका नाम ‘विश्व बैंक का प्रेषण मूल्य विश्वव्यापी डेटाबेस’ (‘The World Bank’s Remittance Prices Worldwide Database’) नाम दिया गया है। रिपोर्ट से पता चलता है कि भारत 2021 में 87 बिलियन अमरीकी डालर प्राप्त करके प्रेषण का दुनिया का सबसे बड़ा प्राप्तकर्ता बन गया। इन निधियों के 20% से अधिक के लिए प्रेषण लेखांकन का मुख्य और सबसे बड़ा स्रोत संयुक्त राज्य अमेरिका (अमेरिका) है। भारत को इस प्रेषण का 2022 में 3% की वृद्धि के साथ 89.6 बिलियन अमरीकी डॉलर होने का अनुमान है। रिपोर्ट के अनुसार भारत के बाद चीन, मैक्सिको, फिलीपींस और मिस्र देश हैं।

प्रधानमंत्री ने वायु सेना प्रमुख को एचएएल निर्मित हल्के लड़ाकू हेलीकॉप्टर सौंपे

हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (एचएएल) Hindustan Aeronautics Limited की स्थापना 23 दिसंबर 1940 को मैसूर के तत्कालीन साम्राज्य के सहयोग से वालचंद हीराचंद द्वारा बैंगलोर में हिंदुस्तान एयरक्राफ्ट लिमिटेड के रूप में की गई थी। वालचंद हीराचंद कंपनी के पहले अध्यक्ष बने। कंपनी का कार्यालय “इवेंटाइड” नामक एक बंगले में खोला गया था और 1964 में इसका नाम बदलकर हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स कर दिया गया था और वर्तमान में भी हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड का मुख्यालय बेंगलुरु में ही स्थित है ।
अभी हाल ही में देश के प्रधान मंत्री द्वारा भारतीय वायु सेना प्रमुख मार्शल विवेक राम चौधरी को स्वदेश में विकसित और निर्मित हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड के हल्के लड़ाकू हेलीकॉप्टर (LCH) सौंपे हैं। इस नए हल्के लड़ाकू हेलीकाप्टरों (LCH) में उन्नत तकनीकों और प्रभावी लड़ाकू भूमिकाओं के लिए उन्नत सुविधाओं को शामिल करने से भारत को इस क्षेत्र में आत्मनिर्भरता को बढ़ावा मिलने की उम्मीद की जा सकती है। इस नए निर्मित हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड के हल्के लड़ाकू हेलीकॉप्टर (LCH) भारत का एकमात्र प्रभावी लड़ाकू हेलिकॉप्टर होगा जो 5,000 मीटर की ऊंचाई पर भारी मात्रा में हथियारों और ईंधन के साथ उड़ान भर सकता है और सफलतापूर्वक उतरने में शक्षम है।
प्रधान मंत्री भारतीय सेना को भी देश में विकसित और निर्मित ड्रोन सौंपा, जिसका प्रयोग भारतीय सेना द्वारा पूरे देश में विभिन्न आवश्यकताओं के लिए उपयोग में लाया जाएगा।

कर्नाटक विकास ग्रामीण बैंक ने सर्वश्रेष्ठ डिजिटलीकरण के लिए एसोचैम (ASSOCHAM) पुरस्कार जीता

कर्नाटक विकास ग्रामीण बैंक की स्थापना वर्ष 2005 में हुई थी और केवीजीबी का प्रधान कार्यालय कर्नाटक राज्य के धारवाड़ जिले में स्थित है। वर्तमान में कर्नाटक विकास ग्रामीण बैंक के अध्यक्ष पी. गोपीकृष्ण हैं।
यह ज्ञान बढ़ाने के लिए है कि कर्नाटक विकास ग्रामीण बैंक (KVGB), केनरा बैंक द्वारा प्रायोजित एक भारतीय क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक (RRB) है और यह क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक (RRB) भारत सरकार के वित्त मंत्रालय के स्वामित्व में आता है। बैंक ग्रामीण उपयोगकर्ताओं को खुदरा बैंकिंग सेवाएं प्रदान करता है और कर्नाटक विकास ग्रामीण बैंक की कर्नाटक के उत्तरी और पश्चिमी क्षेत्रों के आसपास इस ग्रामीण बैंक की लगभग 600 से भी ज्यादा शाखाएं हैं। अभी हाल ही में एसोसिएटेड चैंबर्स ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री (एसोचैम) (Associated Chambers of Commerce and Industry of India (ASSOCHAM)) द्वारा कर्नाटक विकास ग्रामीण बैंक (KVGB) को ‘क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों’ (RRBs) की श्रेणी में ‘आत्मनिर्भर भारत’ के तहत सर्वश्रेष्ठ ‘डिजिटल वित्तीय सेवाओं’ का पुरस्कार दिया गया और
बैंक के अध्यक्ष पी. गोपीकृष्ण ने बेंगलुरु में भारतीय रिजर्व बैंक के क्षेत्रीय निदेशक आर. गुरुमूर्ति से पुरस्कार प्राप्त किया।
कर्नाटक विकास ग्रामीण बैंक के डिजिटिकरण के द्वारा कर्नाटक के लगभग 40 गांवों को 100% डिजिटल गांवों में बदल दिया है। कर्नाटक विकास ग्रामीण बैंक का यह प्रयास ग्रामीण क्षेत्रों के ग्रामीणों को वित्तीय लेनदेन के लिए डिजिटल मोड का उपयोग करने के लिए प्रोत्साहित कर रहा हैं। इन डिजिटल गांवों में चौबीसों घंटे आधुनिक डिजिटल वित्तीय सेवाएं जैसे इंटरनेट बैंकिंग, मोबाइल बैंकिंग, माइक्रो एटीएम, एईपीएस (आधार सक्षम भुगतान प्रणाली), आईएमपीएस और यूपीआई तक की सुविधा उपलब्ध है।

भारतीय किशोर भाइयों ने 2021 किड्स-राइट्स इंटरनेशनल चिल्ड्रन पीस प्राइज जीता है

अंतर्राष्ट्रीय बाल अधिकार (किड्सराइट्स) संगठन (The International children’s rights organization KidsRights) जो कि एम्स्टर्डम, नीदरलैंड (Amsterdam, the Netherlands) में स्थित है के द्वारा प्रतिवर्ष एक अंतर्राष्ट्रीय बाल शांति पुरस्कार दिया जाता है। यह पुरस्कार उस बच्चे या बच्चों को दिया जाता है जिन्होंने बच्चों के अधिकारों की वकालत करने हुए अनाथ, बाल मजदूरों और एचआईवी/एड्स से प्रभावित जैसे कमजोर बच्चों की स्थिति में सुधार करने में महत्वपूर्ण योगदान दिया हो। वर्ष 2021 के लिए अंतर्राष्ट्रीय बाल अधिकार (किड्सराइट्स) संगठन ने अपने 17वां वार्षिक अंतर्राष्ट्रीय बाल शांति पुरस्कार (किड्सराइट्स इंटरनेशनल चिल्ड्रन पीस प्राइज) के लिए दिल्ली के दो किशोर भाइयों को दिया । इन किशोर भाइयों का नाम नव अग्रवाल जो कि केवल 14 वर्ष का है और विहान अग्रवाल जो कि केवल 17 वर्ष का है। दोनों किशोर भाइयों को उनके घरेलू कचरे को रिसाइकिल करके अपने गृह शहर में प्रदूषण से निपटने के प्रयास के लिए अंतर्राष्ट्रीय बाल शांति पुरस्कार दिया गया। दोनों किशोर भाइयों को यह प्रतिष्ठित पुरस्कार (अंतर्राष्ट्रीय बाल शांति पुरस्कार) भारतीय नोबेल शांति पुरस्कार विजेता कैलाश सत्यार्थी द्वारा दिया गया। विहान अग्रवाल और नव अग्रवाल ने हजारों घरों, स्कूलों और कार्यालयों से कचरे को अलग करने और कचरा उठाने के आयोजन के लिए वन स्टेप ग्रीनर (“One Step Greener”) पहल विकसित की है। दोनों किशोर भाइयों ने कहा कि उनकी “वन स्टेप ग्रीनर” (“One Step Greener”) की पहल के लिए प्रेरणा की चिंगारी 2017 में दिल्ली के गाजीपुर लैंडफिल साइट (Ghazipur landfill site) के ढहने के बाद आई, जिसमें दो लोगों की मौत हो गई थी और साथ साथ दिल्ली के प्रदूषण में वृद्धि भी हुई थी । दोनों किशोर भाइयों ने यह भी कहा कि अंतर्राष्ट्रीय बाल शांति पुरस्कार, जो उनके लिए उनकी शिक्षा के लिए अनुदान और उनकी परियोजना के लिए 100,000 यूरो लाया है यह एक “अद्भुत सम्मान” है और उन्होंने यह उम्मीद भी जताई कि यह पुरस्कार दूसरों को भी प्रेरित करेगा।

नवंबर 2021 महीने की अन्य तिथियों के करेंट अफेयर्स जानने के लिए यहां क्लिक करें

वर्ष 2021 के अन्य महीनों के करेंट अफेयर्स जानने के लिए यहां क्लिक करें

मुझे उम्मीद है कि ये जानकारी निश्चित रूप से आपको अपने ज्ञान को तेज करने में मदद करेगी और प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी में भी मदद करेगी। कृपया टिप्पणी करें।
आपको ढेरों शुभकामनाएं।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *