Month: May 2021

विभिन्न प्रकार के ग्राहकों के लिए अलग प्रकार का बैंक खाता

वर्ष 1969 के बाद जब भारतीय वाणिज्यिक बैंक का राष्ट्रव्यापीकरण हुआ। वाणिज्यिक बैंकों के राष्ट्रीयकरण के पीछे, शासन का उद्देश्य बैंक को सामाजिककरण करना था क्योंकि हमारे समाज में विभिन्न प्रकार के मानवों साथ मिलकर रहते है। समाज हमेशा हर किसी के लिए उपयुक्त नौकरी प्रदान करने का प्रयास करता है। फिर भी इससे कोई …

विभिन्न प्रकार के ग्राहकों के लिए अलग प्रकार का बैंक खाता Read More »

भारतीय बैंकिंग प्रणाली – संरचना और व्यवस्था

इस ब्लॉग में हम भारतीय बैंकिंग प्रणाली की संरचना और उनके व्यवस्था के बारे में चर्चा करने जा रहे हैं। भारतीय बैंकिंग प्रणाली एक बहुत जटिल बैंकिंग प्रणाली है। वैसे तो बहुत सारे बैंकिंग चैनल हैं लेकिन एक सर्वोच्च प्राधिकरण द्वारा प्रबंधित किया जाता है यह सब हम इस ब्लॉग पर चर्चा करेंगे तो कृपया …

भारतीय बैंकिंग प्रणाली – संरचना और व्यवस्था Read More »

आत्म-सुधार के लिए आत्म-विश्लेषण की महिमा

इस ब्लॉग में हम आत्म-मूल्यांकन के महत्व और आत्म-सुधार की आवश्यकता के बारे में चर्चा कर रहे हैं। तो दोस्तों यह है लॉक डाउन का अनमोल समय जो हमारे जीवन में जबरदस्ती आया है । जो लोग स्वयं के मूल्यांकन के लिए इस बिना रुकावट के सुनहरे समय का अवसर लेंगे और आत्म-सुधार के लिए …

आत्म-सुधार के लिए आत्म-विश्लेषण की महिमा Read More »